लेखांकन के प्रकार – Types of Accounting In Hindi

Spread the love

नमस्कार दोस्तों एक बार फिर आपका स्वागत है सीखो एकाउंटिंग में। 

Type of Accounting in Hindi – आज के इस आर्टिकल में हम आपको बतायंगे कि लेखांकन कितने प्रकार का होता है ?

Types of Accounting in Hindi
Types of Accounting in Hindi

Types of Accounting in Hindi || Lekhankan Ke prakar || Accounting ke prakar || Financial Accounting || Cost Accounting || Management Accounting

एकाउंटिंग प्रमुख रूप से 5 प्रकार की होती है जो निम्न प्रकार है

वित्तीय लेखांकन (Financial Accounting)

वित्तीय लेखांकन(Financial Accounting) एक विशेष प्रकार का लेखांकन है जिसमें समय की अवधि के लिए व्यावसायिक संचालन से उत्पन्न होने वाले लेनदेन का दस्तावेजीकरण, सारांश और रिपोर्टिंग की एक विधि शामिल है। इस तरह के लेन-देन खातों की तैयारी में उल्लिखित हैं, जिसमें बैलेंस शीट, आय विवरण और नकदी प्रवाह विवरण शामिल हैं, जो एक विशेष अवधि में कंपनी के वित्तीय परिणामों का दस्तावेजीकरण करते हैं।

सरल शब्दो में

Financial Accounting एक ऐसा प्रोसेस होता है जिसके माध्यम से बिज़नेस के फाइनेंसियल स्टेटमेंट को बनाया जाता है। फाइनेंसियल एकाउंटिंग करने का मुख्य उद्देश्य बिज़नेस के सारे ट्रांसक्शन को एक सिस्टेमेटिक रूप में रिकॉर्ड करना होता है जिसके माध्यम से निम्न अकाउंट prepare किये जाते है जैसे Journal,Ledger,Trial Balance,Profit & Loss Account और Balance Sheet अकाउंट बनाये जाते है। Financial Accounting के  माध्यम से हमको बिज़नेस की फाइनेंसियल पोजीशन का पता चल जाता है।

2.लागत लेखांकन (Cost Accounting)

Cost Accounting के माध्यम से किसी भी कंपनी के खर्चो और उत्पादन के बारे में जाना तथा विश्लेषण किया जा सकता है,जिसके द्वारा आप अपनी कंपनी के हर एक इकाई के टोटल उत्पादन और लागत (Cost) के बारे में पता लगा सके। आमतौर पर बड़ी-बड़ी कंपनी एक साथ कई प्रकार के उत्पादों को बनाती है तथा इन सब इकाई को Cost Accounting के माध्यम से जाना जा सकता है किस इकाई से कितना फायदा हो रहा है और किस इकाई से नुकसान।

Cost Accounting क्यों जरुरी है ?

Cost Accounting एक कंपनी के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है हम इसके द्वारा निम्न चीज़ों को ज्ञात कर सकते है…

  • हम किस जगह पर कितनी लागत लगा रहे है इसका पता लगाया जा सकता है।
  • किस इकाई में कितना Material waste हो रहा है तथा उसको कैसे रोका जा सकता है इसका भी विश्लेषण किया जा सकता है।
  • किस इकाई से कंपनी को प्रॉफिट या लोस्स हो रहा है इसका भी पता cost एकाउंटिंग से लगाया जा सकता है।

3.प्रबंधकीय लेखांकन (Managment Accounting)

 प्रबंधकीय लेखांकन यानी Management Accounting में फाइनेंसियल एकाउंटिंग तथा कॉस्ट एकाउंटिंग में से जो जानकारी मिलती है उस जानकारी को Manage करना तथा उनकी रिपोर्ट को तैयार करना ही मैनजमेंट एकाउंटिंग कहलाता है। मैनजमेंट एकाउंटिंग के अंतर्गत बिज़नेस के मैनेजर द्वारा प्लानिंग,कंट्रोलिंग तथा Operations को मैनेज किया जाता है तथा महत्वपूर्ण निर्णय लेकर बिज़नेस के ऑब्जेक्ट को पूरा किया जाता है इसके अंतर्गत निम्न डाटा बनाये जाते है जैसे Planning Ratio Data,Budgetary और cash Flow Account बनाये जाते है।

4. कर लेखांकन (Tax Accounting)

कर लेखांकन (Tax Accounting) से आशय उस एकाउंटिंग से है जिसके अंतर्गत टैक्स की कैलकुलेशन की जाती है जैसे इनकम टैक्स की कैलकुलेशन करना,GST की कैलकुलेशन करना, VAT की कैलकुलेशन करना  तथा इनके Computation बनाना आता है।

5. सामाजिक लेखांकन (Social Accounting)

सम्पूर्ण समाज या राष्ट्र में जितने भी प्रकार के आर्थिक लेखे (Economic Accounting) है। इन सब लेखो की क्रमबद्ध और नियमित रुप से एकाउंटिंग करना ही सामाजिक लेखांकन यानी Social Accounting कहलाता है। जैसे राष्ट्रीय आय का निर्धारण करना

सोशल एकाउंटिंग को राष्ट्रीय लेखांकन भी कहा जाता है।

F&Q:

Q: Cost Accounting कितने प्रकार के होते है ?

Ans: Cost Accounting 4 प्रकार के होते है –

  • 1.मानक लागत लेखांकन (Standard Cost Accounting)
  • 2.लीन एकाउंटिंग (Lean Accounting)
  • 3.गतिविधि आधारित लागत लेखांकन (Activity Based Cost Accounting)
  • 4.सीमांत लागत लेखांकन (Marginal Cost Accounting)

Q: Financial Accounting को हिंदी में क्या कहते है ?

Ans : वित्तीय लेखांकन

Q: Tax Accounting क्या है ?

Ans: कर लेखांकन (Tax Accounting) से आशय उस एकाउंटिंग से है जिसके अंतर्गत टैक्स की कैलकुलेशन की जाती है जैसे इनकम टैक्स की कैलकुलेशन करना,GST की कैलकुलेशन करना, VAT की कैलकुलेशन करना  तथा इनके Computation बनाना आता है।

निष्कर्ष : इस आर्टिकल में आपने जाना कि लेखांकन के प्रकारो के बारे (Types of Accounting in Hindi)

इस आर्टिकल से रिलेटेड कोई भी चीज़ समझ न आ रही हो या आप हमसे कुछ पूछना चाहते है। तो नीचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है। अगर आपको हमारा यह लेख पसंद हो, तो इससे अपने दोस्तों में भी शेयर करें।
आपका दिन शुभ रहे।

यह भी पढ़े :

अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी है तो रेटिंग जरूर दे।

Rate this post

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

जाने Cardano (ADA) Coin खरीदना चाहिए या नहीं ? सबसे ज्यादा रिटर्न वाले म्यूच्यूअल फण्ड कोनसे है ? जाने पूरी जानकारी शेयर मार्किट में निवेश क्यों करना चाहिए ? जाने पूरी जानकारी जाने Dia Coin खरीदना चाहिए या नहीं ? जाने Velas Coin खरीदना चाहिए या नहीं ?
जाने Cardano (ADA) Coin खरीदना चाहिए या नहीं ? सबसे ज्यादा रिटर्न वाले म्यूच्यूअल फण्ड कोनसे है ? जाने पूरी जानकारी शेयर मार्किट में निवेश क्यों करना चाहिए ? जाने पूरी जानकारी जाने Dia Coin खरीदना चाहिए या नहीं ? जाने Velas Coin खरीदना चाहिए या नहीं ?