Goodwill Meaning in HIndi || जाने पूरी जानकारी हिंदी में

हेलो दोस्तों एक बार फिर आपका स्वागत है सीखो एकाउंटिंग में। 

आज हम इस आर्टिकल में बतायेंगे Goodwill क्या होती है (Goodwill Meaning in HIndi ) और यह एक बिज़नेस के लिए कितनी ज्यादा महत्ब्पूर्ण होती है।

Goodwill Meaning in HIndi
Goodwill Meaning in HIndi

What is Goodwill in hindi || Goodwill Kya Hoti hai || Goodwill Meaning in Hindi || Type of Goodwill in Hindi || what is goodwill in accounting

Goodwill Meaning in Hindi

Goodwill एक तरह की Intangible assets है। जब कोई भी कंपनी,फर्म और बिज़नेस जब अपने कस्टमर या यूजर को अपने द्वारा दी गयी सर्विस या माल से संतुष्ट कर देता है तब उस कंपनी,फर्म,या बिज़नेस की गुडविल बन जाती है जिससे कंपनी,फर्म या बिज़नेस की growth भी होने लगती है। 

अगर आसान शब्दो में समझे तो गुडविल से तात्‍पर्य ऐसी Intangible assets से है। जिसको देखा नहीं जा सकता लेकिन इसके होने से बिज़नेस को काफी मोटा फायदा होता है। तथा बिज़नेस की growth दिन प्रतिदिन बढ़ती ही जाती है। 

किसी भी बिज़नेस द्वारा जब अपने कस्टमर को बेस्ट प्रोडक्ट या सर्विस प्रदान की जाती है तो उससे प्रभाबित होकर वह कस्टमर अपने जान पहचान में कंपनी के नाम का प्रमोशन करने लगता है जिसकी वजह से कंपनी या बिज़नेस के नाम की गुडविल अपने आप Create होने लगती है।

उदहारण : जैसे आज के टाइम में बहुत सारी ऐसी कंपनी है।  जो अपने अच्छे प्रोडक्ट और सर्विस के वजह से आज अपना मार्किट में अच्छा नाम बना लिया है।  जिसकी वजह से कोई भी कस्टमर कंपनी या बिज़नेस के नाम से प्रोडक्ट या सर्विस को खरीदता है। जैसे Filpkart ,amazon,TATA ,Birla,parle-G,Puma,Samsung, आदि कंपनी जो अपने बेस्ट प्रोडक्ट और सर्विस के दम पर आज मार्किट में अपना नाम बना लिया है।

क्या गुडविल को ख़रीदा या बेचा जा सकता है ?

इसका जवाब है हाँ गुडविल को ख़रीदा और बेचा सकता है इसको हम एक उदहारण से आसानी से समझा जा सकता है। 

उदहारण :मान लीजिए एक सिटी में Mr राम की एक मिठाई की बड़ी शॉप है और MR राम उस शॉप को बेचना चाहते है और उस शॉप की वर्तमान में उसकी वैल्यू 20 लाख रुपया है।  लेकिन उसे MR श्याम द्वारा 50 लाख रुपया में खरीद लिया गया ।

अब आपके दिमाग में चल रहा होगा की MR श्याम ने 20 लाख की वैल्यू वाली शॉप को 50 लाख में क्यों ख़रीदा इसका सीधा सा जवाब है MR श्याम द्वारा 30 लाख रुपया ज्यादा उस शॉप की गुडविल होने की वजह से दिए है। जो MR श्याम को फ्यूचर में अच्छा प्रॉफिट देंगे।

ख्याति के प्रकार (Type of Goodwill in Hindi)

गुडविल तीन प्रकार की होती है जो निम्नलिखित है।

  • संस्थागत ख्याति (Institution Goodwill)
  • व्यक्तिगत ख्याति (Personal Goodwill)
  • आकस्मिक ख्याति (Casual Event Goodwil)

संस्थागत ख्याति (Institution Goodwill)

संस्थागत ख्याति से तात्पर्य ऐसी ख्याति से होता है । जो बिज़नेस में माल या सर्विस के द्वारा बनती है जैसे कोई XYZ कंपनी बहुत अच्छी किस्म के प्रोडक्ट को बेचती है तो यह ख्याति उसके माल की अच्छी गुडबकता की वजह से बनती है।

व्यक्तिगत ख्याति (Personal Goodwill)

व्यक्तिगत ख्याति से तात्पर्य ऐसी ख्याति से है। जो कंपनी के मालिक की व्यवहार और स्वभाव  की वजह से बनती है।

आकस्मिक ख्याति (Casual Event Goodwil)

ऐसी ख्याति जो बिज़नेस की छोटी मोटी घटना होने पर बन जाती है।लेकिन इस ख्याति का बिज़नेस से कोई लेना देना नहीं होता है। इस ख्याति को चूहे के स्वभाव की ख्याति भी कहते है।

निष्कर्ष :

इस आर्टिकल में आपने जाना Goodwill Kya hoti hai ? तथा यह कितने प्रकार की होती है ?

इस आर्टिकल से रिलेटेड कोई भी चीज़ समझ न आ रही हो या आप हमसे कुछ पूछना चाहते है। तो नीचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है। अगर आपको हमारा यह लेख पसंद हो, तो इससे अपने दोस्तों में भी शेयर करें।
आपको दिन शुभ रहे।

उदहारण : जैसे आज के टाइम में बहुत सारी ऐसी कंपनी है।  जो अपने अच्छे प्रोडक्ट और सर्विस के वजह से आज अपना मार्किट में अच्छा नाम बना लिया है।  जिसकी वजह से कोई भी कस्टमर कंपनी या बिज़नेस के नाम से प्रोडक्ट या सर्विस को खरीदता है। जैसे Filpkart ,amazon ,TATA , Birla, parle-G,Puma,Samsung, आदि कंपनी जो अपने बेस्ट प्रोडक्ट और सर्विस के दम पर आज मार्किट में अपना नाम बना लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.