जीएसटी के अंतर्गत 9 प्रकार की सप्लाई होती है 

कोई भी गुड्स और सर्विस जो आप अपने बिज़नेस में Purchase करते है उसको Inward supply कहा जाता है।

1.Inward Supply

1.Inward Supply

कोई भी गुड्स और सर्विस जो आप अपने बिज़नेस में Sales करते है उसको Outward supply कहा जाता है।

2. Outward Supply

2. Outward Supply

एक राज्य से दूसरे राज्य में गुड्स और सर्विस बेचना Inter State supply माना जाता है।

3.Inter State Supply

3.Inter State Supply

एक राज्य के अंदर गुड्स और सर्विस बेचना Intra State Supply माना जाता है।

4.Intra State Supply

4.Intra State Supply

Section 9 CGST Act के अंतर्गत आने वाली Supply जैसे Alcohal और पेट्रोलियम पदार्थ NON-GST Supply मानी जाती है।

5.Non-GST Supply

5.Non-GST Supply

Section 11 CGST Act  के अंतर्गत आने वाली Supply जैसे Agriculture Product, Education. Healthcare Service, Fish, Natural Products Exempt Supply मानी जाती है।

6.Exempt Supply

6.Exempt Supply

Section 2 (74) CGST Act के अंतर्गत ऐसी सप्लाई जो कई प्रकार की गुड्स को एक गिफ्ट पैक के रूप में बेचना ही Mixed Supply कहलाती है।

7.Mixed Supply

7.Mixed Supply

Section 16 IGST Act के अंतर्गत गुड्स और सर्विस को इंडिया से किसी दूसरे देश में एक्सपोर्ट करने पर और इंडिया के अंदर Special Economic Zone Developer और Special Economic Zone unit में बेचने पर।

8.Zero-Rated Supply

8.Zero-Rated Supply

Section 2 (30)  Act के अंतर्गत 2 गुड्स का मिक्सचर को Composite Supply कहा जाता है जैसे मोबाइल फ़ोन के साथ चार्जर मिलना इसमें Pricipal Supply मोबाइल होगी।

9.Composite Supply

9.Composite Supply

इनकम टैक्स,जीएसटी,फाइनेंस,क्रिप्टोकोर्रेंसी और एकाउंटिंग से रिलेटेड जानकारी के लिए हमारी वेबसाइट Seekho Accounting को फॉलो करें 

SEEKHO ACCOUNTING

और वेबस्टोरी के लिए नीचे लिंक पर क्लिक करें