Turnover के हिसाब से HSN Code की रिपोर्टिंग के लिए अलग अलग Rule है 

5 करोड़ से अधिक टर्नओवर वाले करदाता को 6 Digit HSN Code डालना Mandatory होता है।  

5 करोड़ से अधिक टर्नओवर होने पर 

5 करोड़ से अधिक टर्नओवर होने पर 

B2B और B2C दोनों ही टाइप के Invoice पर 6 डिजिट HSN कोड डालना Mandatory होता है।  

5 करोड़ से अधिक टर्नओवर होने पर 

5 करोड़ से अधिक टर्नओवर होने पर 

5 करोड़ से कम टर्नओवर होने पर आपको 4 डिजिट का HSN कोड डालना Mandatory होगा।  

5 करोड़ से कम टर्नओवर होने पर

5 करोड़ से कम टर्नओवर होने पर

B2B सप्लाई के Invoice पर 4 डिजिट HSN कोड डालना जरुरी होता है। B2C की सप्लाई पर HSN कोड डालना जरुरी नहीं है।  

5 करोड़ से कम टर्नओवर होने पर

5 करोड़ से कम टर्नओवर होने पर

इनकम टैक्स,जीएसटी,फाइनेंस,क्रिप्टोकोर्रेंसी और एकाउंटिंग से रिलेटेड जानकारी के लिए हमारी वेबसाइट Seekho Accounting को फॉलो करें 

SEEKHO ACCOUNTING

और वेबस्टोरी के लिए नीचे लिंक पर क्लिक करें